ALIG NEWS

For The People

अलीगढ़ के थाना अतरौली क्षेत्र की MBBS की छात्रा ने गुजरात के IAS ऑफिसर पर लगाया झूठी शादी कर यौन शोषण का आरोप,

अश्लील वीडियो फ़ोटो वायरल करने की धमकी देकर की थी शादी, पीड़िता ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर न्याय की लगाई गुहार, न्याय न मिलने पर राष्ट्रपति से बच्ची समेत आत्महत्या की मांग रही है परमिशन।

वीओ। थाना अतरौली इलाके के कस्बे के निवासी एक एमबीबीएस की छात्रा ने गुजरात के हेल्थ डिपार्टमेंट में मिशन डायरेक्टर के पद पर कार्यरत आईएएस ऑफिसर पर बेहद ही गंभीर आरोप लगाए हैं। युवती का कहना है कि उसके पास अक्टूबर 2017 में गुजरात के इस IAS ऑफिसर गौरव दहिया का फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी, जिसे युवती ने एक्सेप्ट कर लिया तो मैसेंजर चैट पर संदेश आया। जिसके बाद बातें शुरू हो गईं। जिसके उसने मेसेंजर पर ही शादी के लिए प्रपोज किया। जिसका विरोध करते हुए युवती ने अपने कैरियर की बात कहते हुए शादी के लिए मना कर दिया। युवती का आरोप है कि उसने आत्महत्या की धमकी देकर इमोशनली ब्लैकमेल किया। जिसके बाद युवती को फेसबुक के माध्यम से ही आता चला कि वह पहले से ही शादी शुदा है। इसके बाद बात करना बंद कर दिया। लेकिन गौरव दहिया नहीं माना और कहने लगा कि वह अपनी पत्नी से खुश नहीं है उसे जल्दी ही तलाक दे रहा है। इस तरह की झूठी बातें बनाकर एक दिन अपने परिवार से मिलाने म बहाने दिल्ली के कनोड पैलेस के एक होटल में बुला लिया। जहां जाकर उसकी कोई भी फेमिली पर्सन नहीं दिखा तो इसपर सवाल खड़ा किया। जिसपर उसने बोला कि वह लोग आ रहे हैं। और इसी दौरान कोल्ड्रिंक में कुछ नशीला पदार्थ मिलाकर दे दिया। युवती का कहना है कि उसे फिर होश नहीं रहा। और इसी दौरान उसने उसके साथ शारीरिक सम्बंध बनाये व अश्लील वीडियो फ़ोटो भी ले लिए। जिनक आधार पर ब्लैकमेल कर कहने लगा कि मैं जल्दी ही तलाक ले लूंगा अब तुम किसी से शादी नहीं कर सकती हो। तुम्हें मेरे साथ ही रहना है। अगर नहीं मानी तो ये वीडियो फ़ोटो वायरल करने की धमकी दी। उसके बाद वहां से चली आई। एक दिन फिर से कॉल आया कि दिल्ली मिलो शादी का पूरा अरेजमेंट कर लिया है। और तलाक के लिए पिटीशन फ़ाइल हो चुका है। मनया करने के बावजूद भी उसने जबरन शादी भी कर ली। और शादीशुदा जिंदगी के भी उसने पता नहीं कब वीडियो फ़ोटो ले लिए। आगे बताया कि उसके बेटी का जन्म हुआ तो युवती ने अबॉर्शन के लिए कहा, लेकिन उसने ऐसा नहीं करने दिया। लेकिन उसके कुछ वक्त बाद बेटी को एक्सेप्ट नहीं कर रहा है। जिसकी शिकायत गुजरात में की गई तो उसके खिलाफ कार्रवाई हुई और उसे सस्पेंड कर दिया गया। 2 साल से गुजरात में वह सस्पेंड चल रहा है। जिसके बाद आरोपी आईएएस ऑफिसर युवती पर कंप्लेंट वापस लेने के लिए तमाम तरह के दबाव बना रहा है। जिसकी शिकायत युवती ने दिल्ली में भी की। और अलीगढ़ में भी की। यहां पुलिस ने सीधे FIR दर्ज नहीं की तो कोर्ट के माध्यम से बड़ी ही मुश्किलों स्व मुदकमा दर्ज तो हो गया। लेकिन अब दिल्ली से लेकर अलीगढ़ तक की पुलिस ने बिना पीड़िता के बयान लिए फ़ाइल क्लोज कर दी। इतना ही नहीं, मुकदमा वापस लेने के लिए पुलिस भी दबाव बना रही है। जिसके बाद राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा है जिसमें न्याय की गुहार लगाई है।वहीं पत्र में यह भी लिखा है कि अगर न्याय न दिलवा सकें तो मुझे मेरी बेटी के साथ आत्महत्या करने की इजाज़त दी जाए। क्योंकि इस ढाई वर्ष की बेटी को नाम दिलवाना ही मेरा मकशद है।

You may have missed

Instagram202
YouTube20
Facebook472
Twitter674
LinkedIn820
Share