ALIG NEWS

For The People

एएमयू परिसर में नए गेट का निर्माण


अलीगढ़, 9 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय परिसर में एबीके यूनियन स्कूल (ब्वायज़) से सटे टूटी बाउंड्री जमालपुर में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्थानीय लोगों के सहयोग से स्थायी गेट का निर्माण करा दिया गया है। जिसमें विश्वविद्यालय की सुरक्षा और अधिक मजबूत हो सकेगी।  
अमुवि परिसर में सुरक्षा की दृष्टि से असामाजिक एवं बाहरी तत्वों की रोकथाम हेतु चारों तरफ चाहर दिवारी व गेटों का निर्माण अमुवि प्रशासन द्वारा पहले किया जा चुका है परन्तु एक रास्ता जो परिसर में स्थित एबीके यूनियन स्कूल के सामने से बाउंड्री तोड़कर जमालपुर की ओर निकाला गया है उस पर पिछले कई वर्षों से गेट का निर्माण विचाराधीन था। क्योंकि बाउंड्री के किनारे बसे जमालपुर निवासीगण टूटी बाउंड्री गेट के निर्माण का विरोध कर रहे थे। पूर्व में अमुवि प्रशासन एवं जिला प्रशासन द्वारा भी गेट के निर्माण को लेकर अथक प्रयास किया गया परन्तु सफलता प्राप्त नहीं हो सकी।
वर्तमान अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने स्वतः टूटी बाउंड्री गेट प्रकरण का संज्ञान लेते हुए अमुवि रजिस्ट्रार, प्राक्टर व तथा डिप्टी प्राक्टर के साथ टूटी बाउंड्री गेट निर्माण को लेकर चर्चा की एवं उचित कार्यवाही करने को निर्देशित किया। उक्त गेट प्रकरण को अमुवि रजिस्ट्रार श्री अब्दुल हमीद (आईपीएस) व अमुवि प्राक्टर प्रोफेसर मोहम्मद वसीम अली ने गंभीरता से लिया और अमुवि रजिस्ट्रार के निर्देशानुसार अमुवि प्राक्टर, डिप्टी प्राक्टर व प्राक्टोरियल टीम के नेतृत्व में टूटी बाउंड्रीवाल के किनारे बसे शिक्षित व गणमान्य निवासी गणों के साथ वाद-संवाद और उन्हें समझाने का प्रयास किया। इसके कुछ दिन बाद पुनः अमुवि प्राक्टर, डिप्टी प्राक्टर एवं प्राक्टोरियल टीम ने वहां के निवासीगणों के साथ वाद संवाद किया। कई दौर के वाद संवाद के बाद अंत में टूटी बाउंड्री स्थित निवासीगणों ने अमुवि इंतज़ामियां की बात को समझा और टूटी बाउंड्री और गेट निर्माण पर अपनी सहमति दे दी। जो गेट निर्माण अमुवि प्रशासन के लिए समस्या बना था वह अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर, रजिस्ट्रार श्री अब्दुल हमीद (आईपीएस)  अमुवि प्राक्टर प्रोफेसर मोहम्मद वसीम अली व डिप्टी प्राक्टर डा० सय्यद अली नवाज़ जै़दी, डा० मोहम्मद बिलाल तफसीर एवं सभी प्राक्टोरियल टीम एवं टूटी बाउंड्री जमालपुर के निवासीगण आदि के संपूर्ण सहयोग के कारण गेट निर्माण का कार्य सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। टूटी बाउंड्री गेट निर्माण के पश्चात सुरक्षा की दृष्टि से बाहरी एवं असामाजिक तत्वों का अमुवि परिसर में आवागमन बन्द गया है, जो एक सराहनीय एवं प्रशंसनीय कार्य है।

You may have missed

Instagram202
YouTube20
Facebook472
Twitter674
LinkedIn820
Share